पीड़ित दंपति ने की विधानसभा के बाहर सड़क पर आत्मदाह करने की कोशिश

 पीड़ित दंपति ने की विधानसभा के बाहर सड़क पर आत्मदाह करने की कोशिश

हाल ही में जो अपराध का मामला सामने आया हैं वह राजधानी लखनऊ में सरोजनीनगर इलाके का हैं. जहाँ से आए पीड़ित दंपति ने गुरुवार को विधानसभा के बाहर सड़क पर आत्मदाह करने की कोशिश की हैं. इस मामले में बताया जा रहा है

कि पति ओम प्रकाश व पत्नी लक्ष्मी सिन्हा अपने 14 माह के मासूम के साथ विधानसभा पहुंचकर अपने ऊपर मिट्टी का तेल डालकर खुद को आग लगाने वाले ही थे कि उससे पहले की पीड़ित दंपति को पुलिस ने पकड़ लिया. खबरों के मुताबिक़ पहली हैंडीकैप महिला और पर्वतारोही अरुणिमा सिंहा पर पीड़ित बहन लक्ष्मी सिंहा और जीजा ओम प्रकाश ने गंभीर आरोप लगाए हैं.

इस मामले में आरोप है कि अरुणिमा सिंहा और उनके पति गौरव वंशल ने पीड़ित के साथ 50-50 परसेंट की पार्टनरशिप पर एक कंपनी खोली थी. जिसके बाद अरुणिमा सिंहा व उनके पति ने कंपनी को पूरी तरह से हड़प लिया. वहीं इस मामले को लेकर पीड़ित दंपति 22 दिनों से लगातार सरोजनीनगर थाने आ रहे थे लेकिन पुलिस कोई भी सुनवाई नहीं कर रही थी. अब इस मामले में यह आरोप है कि बीते 25 दिन पहले कंपनी के पार्टनर अरुणिमा सिन्हा व गौरव वंशल ने पीड़ित ओम प्रकाश पर जानलेवा हमला भी करवाया था और पीड़ित का कहना है कि सरोजनीनगर पुलिस द्वारा मामले की सुनवाई न किए जाने पर उन्होंने पत्नी व 14 माह की बच्ची के साथ विधानसभा के सामने आत्मदाह का प्रयास किया.

वहीं उस दौरान पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए विधानसभा के सामने आत्मदाह करने आए दंपति को पकड़ लिया और पीड़ित ने न्याय की मांग करते हुए कहा कि 'मेरे साथ हुए इस गबन के मामले में एफआईदर्ज की जाए, लेकिन सरोजिनी नगर थाना उसकी जांच नहीं करेगा.' पीड़ित की मांग है कि 'कोई अन्य पुलिस अधिकारी इस मामले की जांच करे. सरोजिनीनगर थाना ये बताए कि किस पुलिस अधिकारी के दबाव में यह सब किया गया है.'