धोनी को अबतक अपने उस रन आउट का मलाल, जाने कैसे मिली थी हार

 धोनी को अबतक अपने उस रन आउट का मलाल, जाने कैसे मिली थी हार

10 जुलाई, 2019ये वो तारीख है जब करोड़ों भारतीय क्रिकेट फैंस का दिल टूटा था। आज ही के दिन एक वर्ष पहले टीम इंडिया वर्ल्ड कप 2019 (ICC World Cup 2019) सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड से पराजय गई थी। 

इस टूर्नामेंट में भारतीय टीम ने गजब का प्रदर्शन किया था, उसके बल्लेबाजों ने गजब का प्रदर्शन किया था लेकिन सेमीफाइनल में ये टीम महज 240 रनों का लक्ष्य हासिल नहीं कर सकी। इस मैच में एक वक्त भारतीय टीम के 6 विकेट 100 रनों से पहले ही गिर गए थे लेकिन इसके बाद जडेजा व धोनी की जोड़ी ने 116 रनों की साझेदारी कर हिंदुस्तान को मैच में वापस ला खड़ा किया था। लेकिन आखिरी ओवरों में महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni Run Out) का रन आउट होना टीम इंडिया को बहुत भारी पड़ गया। बोला जाता है कि धोनी को अबतक अपने उस रन आउट का मलाल है।

ऐसे रन आउट हुए थे धोनी
न्यूजीलैंड के विरूद्ध वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni Run Out) 49वें ओवर में रन आउट हुए थे। धोनी विकेट के बीच बेहद ही तेजी से भागने के लिए प्रसिद्ध हैं लेकिन उस दिन उनकी भाग्य ने साथ नहीं दिया व वो क्रीज से दो इंच दूर रह गए। 49वां ओवर फेंक रहे लोकी फर्ग्युसन की तीसरी गेंद पर धोनी ने लेग साइड पर शॉट खेला व एक रन पूरा करने के बाद वो तेजी से दूसरे रन के लिए भागे। लेकिन लेग साइड पर खड़े मार्टिन गप्टिल ने गेंद को तेजी से उठाते हुए सीधे विकेट पर थ्रो मार दिया। डायरेक्ट थ्रो की वजह से एमएस धोनी क्रीज से महज 2 इंच पीछे रह गए। धोनी के रन आउट होने के बाद भारतीय टीम के तीसरी बार वर्ल्ड कप जीतने का सपना टूट गया।
धोनी को रन आउट होने का मलाल
सेमीफाइनल हारने के बाद धोनी  (MS Dhoni Run Out) के रनआउट पर बहुत ज्यादा चर्चा हुई। इसके कुछ दिन बाद धोनी ने अपने रन आउट पर छोटी सी रिएक्शन दी। धोनी को भी अपने रन आउट होने का अफसोस था। धोनी ने एक व्यक्तिगत चैनल से वार्ता करते हुए बताया कि वो खुद से आज भी कहते हैं कि मुझे डाइव लगानी चाहिए थी। आखिर क्यों मैंने डाइव नहीं लगाई।

बता दें धोनी  (MS Dhoni Run Out) वर्ल्ड कप सेमीफाइनल के बाद से अबतक एक भी इंटरनेशनल मैच नहीं खेले हैं। वो पिछले एक वर्ष से टीम इंडिया से बाहर हैं। अब उनकी वापसी होगी या नहीं कोई नहीं जानता। धोनी ने अपने करियर में कई मैच जिताए हैं लेकिन इस मुकाबले को ना जिताने का मलाल शायद उन्हें हमेशा रहेगा।