राजनाथ सिंह ने की यह बड़ी अपील, इन कंपनीयों को भारत आने का दिया न्यौता

राजनाथ सिंह ने की यह बड़ी अपील, इन कंपनीयों को भारत आने का दिया न्यौता

रक्षामंत्री ने फ्रांस के रक्षा उद्योगों को हिंदुस्तान में उत्पादन इकाइयां लगाने व मिलकर हाई-इंड रक्षा उपकरण उत्पादित करने के लिए आमंत्रित किया। वह अंपनी तीन दिवसीय यात्रा के अंतिम दिन बुधवार को शीर्ष उद्योग शख़्सियतों को संबोधित कर रहे थे। रक्षा व वैमानिकी उद्योगों के सीईओ के एक सम्मेलन को यहां संबोधित कर रहे थे। उन्होंने इस बारे में बात की कि हिंदुस्तान ने किस तरह मेक इन इंडिया पहल के तहत रक्षा क्षेत्र को खोला है। उन्होंने कहा, "हम अपने शिपयाडरे व रक्षा प्लेटफार्मो को प्रौद्योगिकी के जरिए आधुनिकीकृत करने में भागीदारी चाहते हैं। फ्रांस की कंपनियां रक्षा उपकरण बनाने के लिए हिंदुस्तान को अपना ठिकाना बना सकती हैं, न सिर्फ हिंदुस्तान के लिए, बल्कि अन्य राष्ट्रों को निर्यात करने के लिए भी। "

राजनाथ ने फ्रांसीसी रक्षामंत्री संग रक्षा योगदान पर चर्चा की
रक्षामंत्री ने फ्रांस की तीन दिवसीय यात्रा के दौरान अपने फ्रांसीसी समकक्ष के साथ हिंदुस्तान के द्विपक्षीय रक्षा संबंधों सहित कई मुद्दों पर चर्चा की। राजनाथ ने मेरिगनैक में 36 राफेल लड़ाकू विमान लड़ाकू विमानों में से पहले विमान को औपचारिक रूप से प्राप्त करने के बाद मंगलवार देर रात इस चर्चा में भाग लिया। यह वार्ता फ्रांस के साथ हिंदुस्तान की वार्षिक रक्षा बातचीत का भाग थी।

बुधवार को राजनाथ ने ट्वीट किया, "पेरिस में वार्षिक रक्षा बातचीत के दौरान फ्रांस की सशस्त्र बल मामलों की मंत्री फलोरेंस पार्ले के साथ फलदायी विचार-विमर्श हुआ। हमने अपने द्विपक्षीय रक्षा जुड़ाव के विस्तार की समीक्षा की। " रक्षा सचिव अजय कुमार व एयर वाइस चीफ, एयर मार्शल एच। एस। अरोड़ा भी सोमवार को प्रारम्भ हुई फ्रांस की यात्रा पर राजनाथ सिह के साथ उपस्थित हैं।

भारत में रक्षा उपकरणों के घरेलू स्तर पर विकास और इस दिशा में अपनी सरकार की पहल को बढ़ावा देने के लिए अपने तीन दिवसीय दौरे पर गए राजनाथ का बुधवार को फ्रांस में एक जरूरी समारोह भी निर्धारित है। सूत्रों ने बोला कि राजनाथ द्वारा अगले वर्ष फरवरी में यूपी के लखनऊ में आयोजित होने वाले डेफएक्सपो में भाग लेने के लिए फ्रांसीसी रक्षा उद्योगों को आमंत्रित करने की भी आसार है।

मंगलवार को मेरिगनैक में पहला राफेल लड़ाकू विमान जेट प्राप्त करने के तुरंत बाद राजनाथ ने बोला था कि यह कदम हिंदुस्तान और फ्रांस की रणनीतिक साझेदारी में एक नया मील का पत्थर है। उन्होंने भारत-फ्रांस रणनीतिक साझेदारी की नींव रखने के लिए पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी व पूर्व फ्रांसीसी राष्ट्रपति जैक्स शिराक के प्रति आभार भी जताया।