इस एक्ट्रेस को लोगो ने नौटंकी करार देते हुए जमकर लताड़ा

इस एक्ट्रेस को लोगो ने नौटंकी करार देते हुए जमकर लताड़ा

हाल ही में बॉलीवुड एक्ट्रेस जायरा वसीम (Zaira Wasim) की आने वाली फिल्‍म 'द स्काई इज पिंक (The Sky Is Pink)' का ट्रेलर रिलीज हुआ। लेकिन ट्रेलर के आते ही सोशल मीडिया घमासान मच गया।

लोगों ने जायरा वसीम को नौटंकी करार देते हुए उन्हें जमकर लताड़ा। असल में इसके पीछे 30 जून, 2019 का जायरा वसीम का वो लंबा-चौड़ा आर्टिक्ल है, जिसमें उन्होंने बॉलीवुड में कार्य करने को अपने धर्म पर खतरा बताया था।

जायरा ने अपनी पोस्ट में लिखा था, 'पांच वर्ष पहले मैंने जो निर्णय लिया उसने मेरी जिंदगी पूरी तरह बदल दी। मैंने बॉलीवुड में कदम रखा तो इसने मेरे लिए बेशुमार शौहरत के दरवाज़े खोल दिए। मैं पब्लिक अटेंशन पाने लगी। मुझे एक भूमिका मॉडल की तरह देखा जाने लगा, लेकिन ये वो नहीं था जो मैं चाहती थी। अब जबकि मुझे फिल्म इंडस्ट्री में पांच वर्ष हो चुके हैं। मैं यह बात कुबूल करना चाहती हूं कि मैं अपनी इस पहचान व कार्य से खुश नहीं हूं। लंबे समय से कार्य करते हुए ये अहसास हो रहा है कि मैं कुछ व बनने के लिए जूझती आ रही हूं। '

इस फील्ड से मुझे बेहद प्यार है, लेकिन मेरा ईमान भटक रहा हैः जायरा
जायरा ने लिखा था, 'इस फील्ड में मुझे बेहद प्यार, साथ व तारीफ मिली, लेकिन यह मुझे अज्ञानता की राह पर भी ले जा रही थी। यह मुझे मेरे ईमान से दूर कर रहा है। मेरे मजहब के साथ मेरे रिश्तों को खतरा पहुंचा रहा था। मुझे अहसास हो रहा है कि भले ही मैं यहां परफेक्टली फिट होती हूं, लेकिन मैं यहां की नहीं हूं। मैं आज ऑफीशियली ऐलान करती हूं कि मैं इस फील्ड से खुद को अलग कर रही हूं।

जायरा के अनुसार, 'बॉलीवुड में पांच वर्ष सारे करने पर मैं स्वीकार करती हूं कि अपने कार्य के साथ हकीकत में ख़ुश नहीं हूं। नयी लाइफ़स्टाइल को समझा तो मुझे अहसास हुआ कि भले ही मैं इसके लिए पूरी तरह से फिट बैठती हूं, लेकिन मैं यहां के लिए नहीं बनीं। इस खास क्षेत्र ने मुझे बहुत प्यार, योगदान व प्रोत्साहन दिया, पर ये मुझे भ्रमित कर रहा है। मैं अनजाने में अपने ईमान से भटक गई हूं। "

जायरा के मुताबिक, "मैंने ऐसे लगातार माहौल में कार्य किया जिसने मेरे ईमान में दखल दी है। यहां तक कि मैंने अपनी जिंदगी से बरकतें खो दीं। बरकत के अर्थ महज खुशी या आशीर्वाद नहीं, स्‍थ‌िरता भी है।

सैकड़ों बार सोचकर लिया था फैसला
जायरा वसीम ने लिखा था, "एक-दो बार नहीं, मैंने सैकड़ों बार सोचने के बाद यह निर्णय किया था। मैं अच्छे से जानती हूं, इस वक्त जो कर रही हूं वो ठीक नहीं लग रहा, लेकिन एक दिन जब ठीक समय आएगा तो मैं ये सब बंद कर दूंगी।

धर्मगुरुओं ने बोला था, 'फैसला स्वागत योग्य'
जायरा वसीम की इस पोस्ट के बाद घमासान मच गया था। दारुल उलूम के प्रवक्ता मौलाना सुफियान निजामी ने न्यूज18 से वार्ता में बोला कि मजहब पर अमल करना हर शख्स की जिम्मेदारी हैं। मजहबे इस्लाम में अगर उन्होंने इस तरह का कोई निर्णय लिया हैं तो हम इसका स्वागत करते हैं। इस मुल्क के अंदर हर शख्स को निर्णय लेने का अधिकार है। वहीं जायरा वसीम ने अपनी जमीर की आवाज को सुनकर यह निर्णय किया है। दारुल उलूम के प्रवक्ता आगे कहते हैं कि अगर उन्होंने यह निर्णय किसी के दबाव में लिया होता तो इस मामले पर उनसे बात की जाती। सबसे खास है कि अपने मजहब के लिए जायरा वसीम का लिया गया निर्णय स्वागत योग्य है।

देश के प्रमुख शिया धर्मगुरु व ऑल इंडिया मुस्लिम व्यक्तिगत लॉ बोर्ड के वरिष्ठ मेम्बर मौलाना कल्बे जवाद ने जायरा के इस कदम का स्वागत किया। कल्बे जवाद ने बोला कि मैं उनके इस निर्णय की सहारना करता हूं। उन्होंने बोला कि जो भी फिल्में बने उसमें पब्लिक के लिए कोई मैसेज हो।

बॉलीवुड छोड़ने के बाद लिखी थी ये इमोशनल पोस्ट
बॉलीवुड छोड़ने वाली पोस्ट के कमेंट्स को देखते हुए जायरा ने एक नयी पोस्ट में लिखा था, 'अपने अंदर की आग बुझने मत दो। नाउम्मीदी के दलदल में एक चिराग के सहारे चमकते रहो। अपनी जिंदगी के अकेलेपन के तनाव में अपनी आत्मा के हीरो को मरने मत दो। जिस जहां को तुम चाहते हो वो जीता जा सकता है'। जायरा के इस पोस्ट के पीछे की कहानी क्या है ये तो किसी को नहीं पता लेकिन उन्हें इस पर बहुत ज्यादा प्रतिक्रियाएं मिल रहे हैं। ज्यादातर लोग उन्हें सपोर्ट करते दिख रहे हैं।

राजनेताओं में थी जायरा के निर्णय पर हलचल
बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद शाहनवाज हुसैन ने बॉलीवुड अभिनेत्री जाहिरा वसीम के फिल्म इंडस्ट्री छोड़ने पर बयान दिया है। शहनवाज हुसैन ने बोला कि जायरा ने यह कदम दबाव में उठाया है। उन्होंने बोला कि इस्लाम में ऐसी कोई पाबंदी नहीं है।

जम्मू और कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने ट्विटर हैंडल से लिखा है था, 'जायरा वसीम की पसंद पर सवाल उठाने वाले हम कौन होते हैं? वह जैसे चाहें वैसे अपनी जिंदगी जिएं। मैं बस उन्हें बधाई दे सकता हूं व कामना करता हूं कि वह जो करें उससे उन्हें खुशी मिले। '

वहीं भारतीय प्रशासनिक सेवा छोड़कर राजनीति में उतरे शाह फैसल ने बोला है कि वह जायरा के निर्णय का सम्मान करते हैं। शाह फैसल ने भी ज़ायरा को शुभकामनाएं दी थीं। फैसल ने ट्वीट किया, 'मैंने जायरा वसीम के एक्ट्रेस बनने के निर्णय का हमेशा सम्मान किया। शायद ही किसी अन्य कश्मीरी ने इतनी कम आयु में इस तरह की लोकप्रियता व ऐसी सफलता हासिल की हो। आज जब उन्होंने फिल्म जगत छोड़ ही है तो मेरे पास उनके निर्णय का सम्मान करने के अतिरिक्त कोई विकल्प नहीं है। उन्हें शुभकामनाएं। '

विवाद के बाद ज़ायरा वसीम ने ठुकराए थे BIGG BOSS के 1.2 करोड़
'द खबरी' के ट्वीट के मुताबिक ज़ायरा को बिग बॉस-13 के लिए अप्रोच किया गया था। इसके लिए उन्हें 1.2 करोड़ रुपए ऑफर किए गए थे, लेकिन ज़ायरा ने ये ऑफर ठुकरा दिया है। उन्होंने इस शो का भाग बनने से मना कर दिया व इस ऑफर में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। असल में जायरा इतनी विवादित हो गई थीं कि बिग बॉस की नजर उनके ऊपर पड़ गई थी। लेकिन इसे ठुकराकर उन्होंने अपना रवैया बरकरार रखा।

बेटियों के बंधन से छुड़ाने वाले विषय पर थीं जायरा की दोनों फिल्में
जायरा ने 18 वर्ष की आयु में फिल्म 'दंगल' से अपने करियर की आरंभ की। जायरा वसीम को इस फिल्म के लिए नेशनल अवॉर्ड भी मिला था। जायरा ने फिल्म में पहलवान गीता फोगाट का भूमिका किया था, जिसके लिए उन्हें बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का अवॉर्ड मिला था। 2017 में जायरा वसीम ने फिल्म 'सीक्रेट सुपरस्टार' में भी आमिर खान के साथ कार्य किया। इस फिल्म के लिए जायरा को फिल्मफेयर बेस्ट एक्ट्रेस क्रिटिक का अवॉर्ड मिला था। अब जल्द वह प्रियंका चोपड़ा व फरहान के साथ 'द स्काई इज़ पिंक' में नजर आएंगी। अगर वह हकीकत में इंडस्ट्री को बाय कह देती हैं तो यह उनकी आखिरी फिल्म होगी।