बैंबू मसाज से होता है ये फायदा जाने यहाँ

बैंबू मसाज से होता है ये फायदा जाने यहाँ

आज की भाग दौड़ भरी जिंदगी में शरीर में थकान होना आम बात है। लेकिन इसका उपचार भी आसान है। ऐसी ही एक विधि है बैंबू मसाज। मसाज यानी मालिश को शरीर के लिए बहुत ज्यादा लाभकारी माना जाता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि यह बॉडी पेन से राहत दिलाने में बेमिसाल है। साथ ही यह ब्‍लड सर्कुलेशन भी बेहतर करती है। इसी के साथ हम आपको इसके कुछ व फायदे बताने जा रहे हैं।

क्‍या है बैंबू मसाज
बैंबू मसाज प्राकृतिक चिकित्‍सा थेरेपी का एक हिस्‍सा है। इसे मांसपेशियों को तंदरुस्‍त करने व मानसिक रूप से राहत पहुंचाने के लिए इस्‍तेमाल किया जाता है। हिंदुस्तान में ही नहीं, बल्कि विदेशों में भी यह एक खास चिकित्‍सा एवं रिलीफ पद्धति है। इसमें बैंबू यानी बांस के टुकड़ों को गर्म कर उनसे शरीर की मालिश की जाती है। जिससे आप तरोताजा महसूस करते हैं।

बैंबू मसाज के स्वास्थ्य लाभ
दूर होता है बॉडी पेन
बांस के टुकड़ों से की जाने वाली मालिश यानी बैंबू मसाज में बांस के टुकड़ों को गर्म किया जाता है। फि‍र रोलर की तरह इन्‍हें शरीर पर एक खास डायरेक्‍शन में घुमाया जाता है। जिससे गर्दन, पीठ, कंधों में होने वाले दर्द से निजात मिलती है।

सही होता है रक्‍त संचार
शरीर में तनाव, दर्द व थकान होने की एक बड़ी वजह रक्‍त संचार की समस्‍या है। जब भी शरीर में रक्‍त संचार ठीक नहीं होता तो मांसपेशियों की थकान बढ़ जाती है। बैंबू मसाज से शरीर के सभी हिस्‍सों में रक्‍त संचार सुचारू रूप से होने लगता है। जिससे मांसपेशियों में फ्रेशनेस महसूस होने लगती है।

तनाव से मिलती है राहत
बैंबू मसाज में बांस के हल्‍के गर्म टुकड़ों को जब बॉडी पर घुमाया जाता है तो मस्तिष्‍क से तनाव खत्‍म करने वाले हार्मोन्‍स का स्राव होने लगता है। जिसकी वजह से आप रिलैक्‍स महसूस करते हैं। इससे आपको बेहतर नींद आती है। इससे अवसाद व तनाव के जोखिम को भी घटाया जा सकता है।

एंटी एजिंग है बैंबू मसाज
बैंबू मसाज में किसी भी तरह के केमिकल का इस्‍तेमाल नहीं किया जाता है। बल्कि गर्म होने से बांस में उपस्थित सिलिका ही शरीर में प्राकृतिक रूप से प्रवेश करती है। जिससे शरीर में उपस्थित विषैले पदार्थ नेचुरली बाहर निकलने लगते हैं। यह एजिंग की प्रक्रिया को धीमा कर देता है। जिससे आप लंबे समय तक खुद को जवां व तरोताजा महसूस करते हैं।