केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने दिया यह बड़ा बयान

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने दिया यह बड़ा बयान

क्या देश भर में नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) के विरूद्ध जारी विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए सरकार के भीतर मंथन का दौर प्रारम्भ हो गया है? दरअसल, यह प्रश्न केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्री रामदास अठावले के बयान के बाद खड़े होने लगे हैं। 

निर्भया के दोषियों को फांसी की सजा देने की मांग को लेकर मौन व्रत पर बैठे अन्ना हजारे से मुलाकात करने के बाद केंद्रीय मंत्री अठावले ने बोला कि CAA कतई मुस्लिम विरोधी नहीं है, किन्तु इससे गलतफहमी पैदा हो गई है।

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने बोला कि लोगों की भावनाओं का विचार करते हुए इस में बदलाव किए जा सकते हैं। इस पर सरकार ने कुछ सुझाव मांगे हैं। उल्लेखनीय है कि बीते दिनों गृह मंत्री अमित शाह ने बोला था कि सरकार CAA पर एक कदम भी पीछे नहीं हटेगी। हालांकि, रालेगण सिद्धि में बीते 34 दिन से मौन व्रत पर बैठे अन्ना हजारे से मुलाकात करने के बाद रामदास अठावले ने इशारा दिए हैं कि सरकार कानून में परिवर्तन करने के मूड में है।

इससे पहले लखनऊ में एक रैली संबोधित करते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने बोला था कि, '70 सालों से पीड़ित लोगों को पीएम मोदी ने ज़िंदगी का नया अध्याय प्रारम्भ करने का मौका दिया है। मैं डंके की चोट पर कहने आया हूं कि जिसको विरोध करना है करे, CAA वापस नहीं होने वाला है। '