हिंदुस्तान को पीछे छोड़कर संसार का 5वां सबसे संक्रमित देश बन गया स्पेन, पढ़े कुल आकड़े

हिंदुस्तान को पीछे छोड़कर संसार का 5वां सबसे संक्रमित देश बन गया स्पेन, पढ़े कुल आकड़े

 कोविड-19 संक्रमण (Covid-19 Infection) के मामलों में हिंदुस्तान स्पेन (Spain) को पीछे छोड़कर संसार का 5वां सबसे संक्रमित देश बन गया है।

जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी (John Hopkins university) के आंकड़ों के मुताबिक हिंदुस्तान में अब कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus Infection) के कुल मुद्दे 2,43,733 हो चुके हैं। इसके साथ ही हिंदुस्तान कोरोना के कुल मामलों की संख्या में स्पेन से आगे निकल गया।

इससे पहले शनिवार को ही समाचार आई थी कि हिंदुस्तान इटली (Italy) को पीछे छोड़कर कोरोना वायरस वैश्विक महामारी (Global Pandemic) से सबसे बुरी तरह से प्रभावित संसार का छठा देश बन गया है। लेकिन अब हिंदुस्तान ने स्पेन को भी पीछे छोड़ दिया है और 5वां सबसे संक्रमित देश बन गया है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि 1,15,942 संक्रमित मरीजों का चल रहा उपचार
इससे पहले देश में पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा 9,887 नए मरीज सामने आने के साथ ही कोविड-19 (Covid-19) के मुद्दे बढ़कर 2,36,657 हो गए थे।  भारत में शनिवार प्रातः काल आठ बजे तक पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के कारण 294 मरीजों ने दम तोड़ दिया जिसके बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 6,642 हो गई। देश में लगातार तीसरे दिन नौ हजार से अधिक नये मुद्दे सामने आए।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया था कि देश में 1,15,942 संक्रमित मरीजों का इलाज चल रहा है जबकि 1,14,072 लोग स्वस्थ हो चुके हैं, जिनमें से 4,611 मरीज पिछले 24 घंटे में अच्छा हुए हैं। वहीं एक मरीज देश से बाहर जा चुका है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक 45 से ज्यादा नमूनों की हो चुकी है जांच
स्वास्थ्य मंत्रालय (Health ministry) के एक वरिष्ठ ऑफिसर ने कहा, ‘‘अब तक 48.20 प्रतिशत मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। ’’ संक्रमण के मामलों में विदेशी नागरिक भी शामिल हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अबतक 45,24,317 नमूनों की जाँच की गई है। इनमें से भी 1,37,938 नमूनों की जाँच गत 24 घंटे में हुई है।

देश में इस खतरनाक वायरस से अब तक 6,642 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। इनमें से सबसे ज्यादा 2,849 मृत्यु महाराष्ट्र में हुई हैं। इसके बाद गुजरात में 1,190, दिल्ली में 708, मध्य प्रदेश में 384, पश्चिम बंगाल में 366, यूपी में 257, तमिलनाडु में 232, राजस्थान में 218, तेलंगाना में 113 व आंध्र प्रदेश में 73 लोगों की मृत्यु हुई है।

महाराष्ट्र में 80 हजार के पार गये कोरोना वायरस संक्रमण के मामले
कर्नाटक में 57 व पंजाब में 48 मरीजों की संक्रमण के कारण जान गई है। जम्मू और कश्मीर (Jammu-Kashmir) में 36 लोगों की मृत्यु हुई है जबकि बिहार में 29, हरियाणा में 24, केरल में 14, उत्तराखंड में 11, ओडिशा में आठ व झारखंड में सात लोगों की मृत्यु हुई है।

हिमाचल प्रदेश व चंडीगढ़ में कोविड-19 से पांच-पांच लोगों की मृत्यु हुई। असम में चार जबकि छत्तीसगढ़ में दो लोगों की मृत्यु हुई। मेघालय व लद्दाख में एक-एक रोगी की मृत्यु हुई है।

मंत्रालय की वेबसाइट के अनुसार मृतकों में 70 प्रतिशत वैसे लोग हैं जो पहले से ही अन्य बीमारियों से पीड़ित थे। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शनिवार प्रातः काल जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, देश में संक्रमण के सबसे ज्यादा 80,229 मुद्दे महाराष्ट्र में हैं। इसके बाद तमिलनाडु में 28,694, दिल्ली में 26,334, गुजरात में 19,094, राजस्थान में 10,084, यूपी में 9,733 व मध्य प्रदेश में 8,996 लोग संक्रमित हुए हैं।

पश्चिम बंगाल में 7303 व कर्नाटक में करी 5 हजार मामले
पश्चिम बंगाल में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 7,303 हो गई है। इसके बाद कर्नाटक में 4,835, बिहार में 4,596 व आंध्र प्रदेश में 4,303 मरीज हैं। हरियाणा में कोरोना वायरस के 3,597, जम्मू और कश्मीर में 3,324, तेलंगाना में 3,290 व ओडिशा में 2,608 मुद्दे हैं। पंजाब में 2,461, असम में 2,153, केरल में 1,699, उत्तराखंड में 1,215 लोग संक्रमित हैं।

झारखंड में 881, छत्तीसगढ़ में 879, त्रिपुरा में 692, हिमाचल प्रदेश में 393, चंडीगढ़ में 304, गोवा में 196, मणिपुर में 132 व पुडुचेरी में 99 मुद्दे हैं।

मंत्रालय ने कहा, ICMR से मिलान कर जारी किये जाते हैं आंकड़े
लद्दाख में 97, नगालैंड में 94, अरुणाचल प्रदेश में 45 जबकि अंडमान व निकोबार द्वीपसमूह व मेघालय में संक्रमण के 33-33 मुद्दे हैं। मिजोरम में 22, दादरा एवं नगर हवेली में 14 व सिक्किम में कोविड-19 के तीन मुद्दे हैं।

मंत्रालय ने कहा, ‘‘कुल 8,192 मामलों को राज्यों को वापस भेजे गए हैं। हमारे आंकड़े भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) से मिलान करके जारी किए जाते हैं। ’’ मंत्रालय ने बोला कि राज्यवार आंकड़ों को व अधिक सत्यापित करने व मिलान करने की आवश्यकता है।