राजस्थान में मुख्यमंत्री गहलोत ने बहुमत साबित करने पर लगा दिया पूरा ध्यान, यहाँ पढ़े हर अपडेट

राजस्थान में मुख्यमंत्री गहलोत ने बहुमत साबित करने पर लगा दिया पूरा ध्यान, यहाँ पढ़े हर अपडेट

राजस्थान में जारी सियासी उठापटक के बीच सीएम अशोक गहलोत के लिए बुधवार की रात राहत बनकर आई, क्योंकि गवर्नर ने 14 अगस्त से विधानसभा सत्र प्रारम्भ करने की अनुमति दे दी.

वहीं, अब मुख्यमंत्री गहलोत ने अपना पूरा ध्यान बहुमत साबित करने पर लगा दिया है. इसके लिए मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में फेयरमोंट होटल में कांग्रेस पार्टी विधायक दल की मीटिंग हुई. दूसरी तरफ, बीएसपी की तरफ से उच्च न्यायालय में दायर याचिका पर सुनवाई हुई. जानिए हर अपडेट- 

राजस्थान में खरीद-फरोख्त का ‘रेट’ बढ़ा: गहलोत
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बृहस्पतिवार को दावा किया कि कल रात से जब से विधानसभा सत्र बुलाने की तिथि 14 अगस्त निर्धारित हुई है, तब से प्रदेश में खरीद-फरोख्त का ‘रेट’ बढ़ गया है. गहलोत ने संवाददाताओं से वार्ता में बोला कि कल रात से जब से विधानसभा सत्र बुलाने की घोषणा हुई है, राजस्थान में खरीद-फरोख्त (विधायकों की) का ‘रेट’ बढ़ गया है. इससे पहले पहली किश्त 10 करोड़ व दूसरी किश्त 15 करोड़ रुपये थी. अब यह असीमित हो गई है. सब लोग जानते हैं कौन लोग खरीद-फरोख्त कर रहे हैं. 
गहलोत बोले, विवशता में बयान दे रही हैं मायावती

मुख्यमंत्री गहलोत ने बीएसपी प्रमुख मायावती पर हमला करते हुए बोला कि वह विवशता में बयान दे रही हैं. उनकी शिकायत वाजिब नहीं है. छह बीएसपी विधायक अपने विवेक से कांग्रेस पार्टी में शामिल हुए हैं. गहलोत ने कहा, दो तिहाई बहुमत से कोई पार्टी टूट सकती है, अलग पार्टी बन सकती है, विलय कर सकती है दूसरी पार्टी में. यहां बीएसपी छह के छह विधायक मिल गए हैं तो मायावती की जो शिकायत है, वह वाजिब नहीं है क्योंकि मायावती के दो विधायक अगर अलग होते तो शिकायत हो सकती थी. 

सीएम ने कहा, उनके (बसपा) सारे छह विधायक खुद अपने विवेक से हमारी पार्टी में शामिल हुए, उसके बाद कोई वाजिब शिकायत नहीं हो सकती. मेरा मानना है कि मायावती जो बयानबाजी कर रही हैं, वह बीजेपी के इशारे पर कर रही हैं. बीजेपी जिस प्रकार से सीबीआई, ईडी, इनकम टैक्स विभाग का दुरुपयोग कर रही है, डरा रही है, धमका रही है सबको, आप देखो राजस्थान में क्या हो रहा है. मायावती भी भय रही हैं उससे, विवशता में वो बयान दे रही हैं. 

14 अगस्त तक विधायक होटल में रहेंगे सीएम की अध्यक्षता में हुई कांग्रेस पार्टी विधायक दल की मीटिंग को लेकर बताया गया कि इसमें आगे के दशा को लेकर चर्चा की गई. इस बात पर भी चर्चा की गई है कि होटल में कितने दिन व रुकना है, क्योंकि विधानसभा सत्र से पहले रक्षाबंधन भी है.

वहीं, इस मीटिंग में शामिल सूत्रों ने बताया है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मीटिंग में विधायकों से बोला है कि उन्हें 14 अगस्त (विधानसभा सत्र की शुरुआत) तक जयपुर के होटल फेयरमोंट में रहना होगा. मंत्री अपने कार्य को पूरा करने के लिए सचिवालय का दौरा कर सकते हैं. 

संविधान मेरे लिए सर्वोच्च है, कहीं कोई दबाव नहीं- राज्यपाल कलराज मिश्र
केन्द्र के दबाव में कार्य करने के कांग्रेस पार्टी के आरोप पर राजस्थान के गवर्नर कलराज मिश्र ने कहा, संविधान मेरे लिए सर्वोच्च है, कहीं कोई दबाव नहीं. इसके अतिरिक्त गवर्नर ने कहा, गहलोत सरकार को कोरोना महामारी से निपटने के लिए हरसंभव तरीका करने चाहिए व विकास कार्यों में तेजी लानी चाहिए.

 
सीएम गहलोत बोले, असंतुष्ट विधायक भी लें विधानसभा सत्र में भाग
राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने बोला है कि, मैं अब भी चाहता हूं कि जो विधायक असंतुष्ट हैं, उन्हें भी विधानसभा सत्र में भाग लेना चाहिए क्योंकि वे कांग्रेस पार्टी के चुनाव चिन्ह पर चुने गए हैं. यह सुनिश्चित करना मेरी जिम्मेदारी है कि वे जनता के सामने सरकार के साथ खड़े दिखाई दें. मुख्यमंत्री ने आगे कहा, मुझे खुशी है कि गवर्नर ने आखिरकार विधानसभा सत्र को जल्द से जल्द बुलाने के मेरे अनुरोध को स्वीकार किया. क्योंकि व देरी होने से विधायकों की खरीद फरोख्त हो सकती थी. हर कोई जानता है कि विधायकों की खरीद फरोख्त हुई है, लेकिन यह हमें प्रभावित नहीं करेगा. हम अपना पूरा कार्यकाल पूरा करेंगे.

अब कोई परेशानी नहीं, हमारे पास पूर्ण बहुमत है- प्रताप सिंह खाचरियावास
कांग्रेस पार्टी विधायक दल की मीटिंग के बाद मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा, 'गवर्नर साहब ने अब तारीख (14 अगस्त) दे दी है. अब कोई परेशानी नहीं है. हमारे पास पूर्ण बहुमत है, विधानसभा का सत्र बुलाया जाएगा व अगर कोई भी आदमी सरकार के बहुमत को चुनौती देगा तो सच्चाई सामने आ जाएगी.'

हाईकोर्ट ने बीएसपी के छह विधायकों व स्पीकर को जारी किया नोटिस
राजस्थान हाई कोर्ट ने कांग्रेस पार्टी में विलय को लेकर बीएसपी के छह विधायकों व विधानसभा अध्यक्ष को नोटिस जारी किया. न्यायालय ने 11 अगस्त तक इसपर जवाब मांगा है. 

बसपा ने बुधवार को उच्च न्यायालय में याचिका दायर की थी
बीएसपी ने बुधवार को उच्च न्यायालय में याचिका दायर की थी. इस मुद्दे में बीजेपी विधायक मदन दिलावर भी फिर से उच्च न्यायालय पहुंचे हैं. दोनों की याचिकाओं पर बुधवार को करीब 1 घंटे सुनवाई हुई. दूसरी तरफ, आज फिर इस मुद्दे में सुनवाई प्रारम्भ हो गई है. 

विधानसभा अध्यक्ष ने दायर की विशेष अवकाश याचिका
राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने उच्चतम न्यायालय में ताजा विशेष अवकाश याचिका दायर की. यह याचिका राजस्थान उच्च न्यायालय द्वारा सचिन पायलट व 18 अन्य विधायकों के विरूद्ध स्पीकर को कार्रवाई नहीं करने के आदेश को लेकर दायर की गई है.

यह लड़ाई हम जीतेंगे : अशोक गहलोत
गहलोत ने प्रदेश में जारी सियासी गतिरोध की ओर इशारा करते हुए बोला कि यह लड़ाई हम जीतेंगे. उन्होंने बोला कि उनकी सरकार स्थायी और मजबूत है. वह कांग्रेस पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में पार्टी के नए प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा द्वारा पदभार ग्रहण करने के मौका पर पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे.

गहलोत ने कहा, ‘केंद्र सरकार के योगदान से, बीजेपी के षड्यंत्र से, धनबल के इस्तेमाल से प्रदेश की कांग्रेस पार्टी सरकार को अस्थिर करने का षड्यंत्र चल रहा है.’ उन्होंने कहा, ‘यह जो माहौल बना है, उससे चिंता करने की आवश्यकता नहीं है. हमारी सरकार स्थायी व मजबूत है.’