शरीर की सूजन कम करने के लिए अपनाए ये तरीका

शरीर की सूजन कम करने के लिए अपनाए ये तरीका

सूजन अर्थात इन्फ्लमेशन हमारे शरीर की एक स्वाभाविक रिएक्शन है. यह किसी भी संक्रमण से खुद को बचाने का स्कीन का उपाय है. जब हमें कोई संक्रमण होता है या चोट लगती है,

तब हमारा शरीर हानिकारक बैक्टीरिया व वायरस से छुटकारा पाने व क्षतिग्रस्त कोशिकाओं की मरम्मत करने के लिए प्रभावित जगह पर श्वेत रक्तकणों को भेजता है. इससे प्रभावित जगह पर सूजन हो जाती है.

हालांकि, लंबे समय से पर्यावरण में उपस्थित विषाक्त पदार्थों, सिगरेट के धुएं आदि के सम्पर्क में रहने या शरीर में, खासकर पेट के आसपास वसा ऊतकों की अधिकता के कारण भी सूजन हो सकती है. जैसे-जैसे सूजन बढ़ती है, यह आपकी धमनियों व अंगों को नुकसान पहुंचाना प्रारम्भ कर देती है.

अगर समय रहते सूजन का इलाज नहीं किया जाए तो यह दिल रोग, रक्त वाहिका की क्षति, मधुमेह, फैट की चर्बी व अल्जाइमर समेत कई बीमारियों का कारण बन सकती है.

बचाव की रणनीति सूजनरोधी आहार अपनाएं-
आपका संतुलित खानपान सूजन के विरूद्ध उतना ही अच्छा होने कि सम्भावना है जितनी कोई दवा. फल, सब्जियां व मछली, अखरोट, अलसी के बीज और चिया बीज जैसे ओमेगा-3 फैटी एसिड की अधिकता वाली चीजों को नियमित डायट में शामिल करें.