अगर तेजी से घट रहा है वजन तो न करे नज़रअंदाज़, नही तो...

अगर तेजी से घट रहा है वजन तो न करे नज़रअंदाज़, नही तो...

कई बार हाइपोथाइरॉयड के मरीजों का वजन भी तेजी से गिरता है. थकान, सिरदर्द, बार-बार भूख लगना, ध्यान केंद्रित करने में कठिनाई जैसे लक्षणों के साथ अगर तेजी से वजन भी गिर रहा हो तो ये हाइपोथाइरॉयड का लक्षण होने कि सम्भावना है. हालांकि हाइपोथाइरॉयड के मरीजों में कई बार उल्टा भी होता है. यानी उनका वजन तेजी से बढ़ता है.

तनाव होना -
कई बार तनाव की वजह से इंसान को भूख कम लगती है. कम खाने की वजह से शरीर को महत्वपूर्ण ईंधन नहीं मिल पाता. ऐसे में शरीर में जमा फैट टूटकर ग्लूकोज में बदलता है व शरीर इसे ईंधन के रूप में प्रयोग करता है. इस वजह से भी वजन कम होने लग जाता है.

कैंसर होना -
कैंसर के एक तिहाई मामलों में खासकर ज्यादा आयु वालों में वजन तेजी से घटता है. इसकी वजह है कि कैंसर कोशिकाएं तेजी से बढ़ती है व इसके लिए उन्हें भारी मात्रा में ऊर्जा की आवश्यकता होती है.

मानसिक रूप से अस्वस्थ -
तेजी से वजन कम होने की वजहों में मानसिक रूप से निर्बल होना भी है. यदि कोई आदमी मानसिक रूप से परेशान है या फिर उसका उपचार चल रहा हो तो भी ऐसे आदमी का वजन तेजी से बढ़ने लगता है या फिर गिरने लगता है.

किसी कार्य का दबाव होना -
कई मामलों में दबाव या प्रेशर भी वजन गिरने का कारण बनते हैं. बुरे दशा या मुश्किलों में भी इंसान कम वजन की चपेट में आ जाता है. जब हम कम खाना खाते हैं तो शरीर को संपूर्ण कैलारी और ऊर्जा नहीं मिल पाती, ऐसे में पोषक तत्वों के अभाव से हमारी प्रतिरोधात्मक क्षमता कम हो जाती है. इसके अतिरिक्त लिवर या दिल की समस्याओं के कारण भी वजन कम होने कि सम्भावना है. इसलिए जब भी वजन कम हो तो इसे नजरअंदाज मत कीजिए.

आंतों की बीमारी -
कई बार पेट व आंत संबंधी बीमारियों में शरीर भोजन को पूरी तरह से ग्रहण नहीं कर पाता व जो भोजन शरीर में जाता भी है उसका इस्तेमाल आवश्यकता के मुताबिक नहीं हो पाता इसलिए तेजी से वजन घटता है.