आयुष्मान खुराना कई प्रोजेक्ट्स की शूटिंग के लिए हैं तैयार

आयुष्मान खुराना कई प्रोजेक्ट्स की शूटिंग के लिए हैं तैयार

महामारी कोरोना वायरस (Corona virus) के कारण लगे लॉकडाउन के कारण करीब तीन महीनों तक सभी प्रकार की शूटिंग ठप पड़ी थी. अनलॉक-1 (Unlock 1) में कुछ शर्तों के साथ शूटिंग की इजाजत दी गई है. पिछले कुछ दिनों से टीवी शो व फिल्मों की शूटिंग (Shooting of TV shows and films) प्रारम्भ हो गई हैं. एक्टर आयुष्मान खुराना (Actor Ayushmann Khurrana) का बोलना है कि वह सेट पर आने व शूटिंग फिर से प्रारम्भ करने के लिए तैयार हैं. आयुष्मान बैक टू बैक कई प्रोजेक्ट्स की शूटिंग को लेकर एक्साइटेड है. उन्होंने कहा, 'मैं शूटिंग प्रारम्भ करने के लिए इंतजार नहीं कर सकता. मैं सेट पर लंबे समय से गायब हूं. मैं कई चीजों की शूटिंग करूंगा. जैसे ही प्रोडक्शन टीमें पता लगाती हैं व कार्य प्रारम्भ करने के सबसे सुरक्षित उपायों पर ताला लगाती हैं, मैं सेट पर वापस आऊंगा.'


आयुष्मान इन दिनों चंडीगढ़ में अपने परिवार व माता-पिता के साथ समय बिता रहा रहे है. वह साइकिल चलाकर उनकी दैनिक दिनचर्या को संतुलन बना रहे है. एक्टर ने बोला कि मैं हमेशा से साइकिल चलाने का शौकीन रहा हूं. मेरे कार्य के बोझ ने मुझे ऐसा करने से रोका था. मैं अब ऐसा करना पसंद कर रहा हूं. एक्टर का बोलना है कि वह अपनी पूरी जिंदगी साइक्लिंग का शौकीन रहा है. पर कार्य के शिड्यूल ने कभी इसका मौका नहीं दिया. अब वह साइक्लिंग करना बहुत भा रहा है क्योंकि इससे ना केवल मुझे फिट रहने में मदद मिल रही है, बल्कि यह मुझे चीजों पर ध्यान केंद्रित करने, जिंदगी के बारे में सोच-विचार करने व आगे बढ़ने की योजनाएं बनाने का एकांत समय भी दे रही है.

सोशल डिस्टेंसिंग के साथ शूटिंग करना मुश्किल : फिल्मकार
'हेट स्टोरी' फ्रैंचाइजी ( Hate Story franchise) की फिल्मों व 'वजह तुम हो का' निर्देशन करने के लिए जाने जाने वाले फिल्मकार विशाल पांड्या ( Filmmaker Vishal Pandya) का बोलना है कि सोशल डिस्टेंसिंग (social distancing) के प्रतिबंधों के साथ शूटिंग करना मुश्किल है. विशाल ने हाल ही में आगामी वेब सीरीज 'पॉइजन 2' (upcoming web series Poison 2) की शूटिंग प्रारम्भ की है. उन्होंने बताया, इन प्रतिबंधों के साथ शूटिंग करना मुश्किल है क्योंकि नियमों का पेपर पर लिखकर आना एक अलग बात है व इन्हें लागू किया जाना अलग है. यहां सोशल डिस्टेंसिंग के साथ यूनिट में लोग भी कम है, तो चीजों को होने में वक्त लग रहा है.